Archive | Shia RSS feed for this section

MSO Protested destruction of Roza-e-Hazrat Zainab and Hazrat Khalid bin Walid

27 Jul

New Delhi:27th July2013

Muslim Students Organization of India MSO has condemned the attack on shrine of Hazrat Zainab and  Hazrat Khalid bin Waleed in strongest terms.MSO leader Shujaat Qadri today said that we must understand this Salafi US nexus in destroying Islamic nations.On the one hand Saudi Arabia is igniting passion against Shia community on the other hand U.S is providing all support, training and fund to Free Syrian Army.He said that deviated Muslims are considering it as Jehad while it is United States long term plan  in which these goons are killing each others.There is no doubt that Salafi fighters in Syria are doing terrorism in the name of Shia Sunni fights.They have crossed all boundries of being a human being when they ate the heart of a person.Muslims must understand this war is not holy war but U.S and Israel are waging their crusade against Islam and Muslims from behind.MSO is deeply concerned with the alarming situation in Syria and urges all parties to not touch Holy shrines of Islam and must know the US hidden motives in this War.

मुस्लिम स्टुडेंट्स ओर्गानिजेशन ऑफ इण्डिया (एम् एस ओ) की राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य shujaat ने कहा नवासी ऐ रसूल हज़रत जैनब और  पैगम्बर हज़रत मुहम्मद साहब के साथी सहाबी हज़रत खालिद बिन वलीद की मज़ार पर यह ताज़ा हमला सलफी और अमेरिका के सहयोग  की एक कड़ी है जिसको समझना होगा!

उन्होंने आगे कहा की  सऊदी हुकूमत और क़तर को यह समझना होगा की शियाओं के खिलाफ नफ़रत फैलाने से किसी का भला नहीं होगा और जिस तरह वोह सीरिया की हुकूमत को हटाने के लिए फंड दे रहा है और अमेरिका इस्राएल से हथियार  लेकर इन फसदिओं को मुहय्या करा रहा है उससे इस झूठे जेहाद की पोल खुलती है की अमेरिका क्यूँ तुम्हारे जेहाद में हिस्सा लेगा उसे किया पड़ी है की वोह जेहाद करेगा !दरअसल सउदी की सलफी हुकूमत सुन्नी हुकूमत नहीं है बल्कि कट्टरपंथी और मुसलमानों को बाँटने वाली वहाबी सलफी हुकूमत है! सऊदी अरब और कतर जेहाद के नाम पर इस्राएल और अमेरिका की साजिशों का हिस्सा बने हुए हैं ! उन्होंने कहा इस सम्बन्ध में जल्द ही एम् एस ओ का एक डेलिगेशन सिरियन दूतावास जाकर अपना विरोध दर्ज कराएगा !

Advertisements

सीरिया में हज़रत जैनब और हज़रत खालिद बिन वलीद की मज़ार पर हमले से मुसलमान बेचैन और गुस्से में

26 Jul

अमरोहा ! 26th July 2013

आल इण्डिया जमात रज़ा ऐ मुस्तफा अमरोहा ने सीरिया में नवासी ऐ रसूल हज़रत जैनब और  पैगम्बर हज़रत मुहम्मद साहब के साथी सहाबी हज़रत खालिद बिन वलीद की मज़ार पर आतंकवादियों के द्वारा किये गए हमले की कड़ी भर्त्सना की है !

मीटिंग को संबोधित करते हुए जमात के उपाध्यक्ष डाक्टर अनीस आलम तुर्की ने कहा की पूरी दुनिया भर में आज  अमेरिका की साजिश  पर मुस्लिम राष्ट्रों को तबाह और बर्बाद किया जा रहा है और उसमे खासतौर पर इस्लामी निशानिओं अहले बैयत, सहाबा की मजारो ,सूफी संतो वालिओं के अस्तानो को खासतौर पर निशाना बनाया जा रहा है यह काम अकेले अमेरिका नहीं कर रहा है बल्कि उसने सलफी वहाबी विचारधारा वाले फसादियों की एक फ़ौज तय्यार कर रखी है! यह सलफी आतंकवादी दुनिये भर में मुसलमानों के खून की होली अमेरिका के साथ मिलकर खेल रहे हैं और जहाँ भी जा रहे हैं वहां इस्लामी निशानिओं को खत्म बर्बाद कर रहे हैं !

इसी कड़ी में सीरिया में सुन्नी बनकर उतरे यह फसादी दरअसल वहाबी सलफी है जो न सुन्निओं को छोड़ रहे हैं न शियाओं को और नवासी ऐ रसूल हज़रत जैनब और  पैगम्बर हज़रत मुहम्मद साहब के साथी सहाबी हज़रत खालिद बिन वलीद की मज़ार पर यह ताज़ा हमला इसी साजिश का नतीजा है की मुसलमानो के इतिहास को ही पूरी दुनिया से मिटा दो मगर उनकी यह साजिश कामयाब नहीं हो पायेगी क्यूंकि दुनिया का मुसलमान इस साजिश ने कहा को खूब समझ रहा है !

शहर के सुप्रसिद्ध वकील एडवोकेट शमीम अहमद तुर्क ने कहा की इस घटना की जितनी भी भर्तसना की जाये कम है जो नवासी ऐ रसूल और सहाबी की दरगाह को नहीं छोड़ रहे वोह कैसे मुसलमान हो सकते हैं इन तथाकथित मुसलमानों ने इस्लाम को पूरी दुनिया में बदनाम किया है और इनको पहचानना होगा और इनका इनकी विचरधारा का पूरी तरह बॉयकाट करना होगा!   डाक्टर मुकर्रब हुसैन ने कहा की आलम –ऐ- इस्लाम में आज जो भी अशांति है है वोह सब इसी फसाद की देन है हम सब को इस फसाद को समझना होगा इस फसाद के खिलाफ एक आवाज़ बनकर खड़े होना होगा !

युवा नेता सभासद मुहम्मद यासिर अंसारी ने हमले की मज्ज्मत करते हुए कहा की मुसलमान इन हरकतों को कतई बर्दाश्त नहीं करेंगे और सऊदी अरब को सीरिया के आतंकवादियों का समर्थन करना छोडना होगा !

इस मौके पर मुहम्मद यासिर अंसारी, दानिश वारसी ,फरदीन कादरी,हाफिज मुहम्मद नईम,हाफिज असगर ,याहया खान ,जुनैद काज़मी,हाफिज यामीन समेत जमात रज़ा के पदाधिकारी उपस्थित थे !

Destruction of Holy sites in Syria:Pakistan summoned Syrian envoy

23 Jul

ISLAMABAD: Pakistan on Monday summoned a senior Syrian diplomat to strongly condemn what it called the ‘deliberate and wanton’ attacks on holy sites in Syria including recent attacks on Sayyeda Bibi Zainab’s shrine in Damascus.The foreign ministry conveyed Pakistan’s deep concerns over such ‘reprehensible acts.’According to the foreign ministry spokesperson, the government of Pakistan urged upon Syrian authorities to ensure safety and security of all holy shrines and buildings in Syria.

“The trend of desecration of the holy sites has hurt the sentiments of Muslims in Pakistan as indeed the world over. Such violations, which also fan sectarian strife, are most reprehensible,” the spokesperson added. Pakistan also called upon all parties involved in the Syrian conflict to observe the international humanitarian law and help protect the common heritage of mankind respecting the sanctity of the holy buildings and places of worship.

Islamabad summoned the Syrian envoy a day after countrywide protests against the desecration of holy sites.

Protesters also staged a sit-in outside the foreign office on Sunday, urging the government to denounce the attacks and take up the matter with concerned authorities.

On Monday, reports emerged that the mosque where Khalid Bin Walid, a companion of Prophet Muhammad (pbuh) and commander of Muslim forces known for his military prowess and conquests, had been buried in Syria, had been damaged by military shelling.

%d bloggers like this: